शुक्रवार, 5 फ़रवरी 2021

योगी सरकार ने लिया जमा खोरी और मुनाफा खोरी पर बड़ा फैंसला- 6 फरवरी की 4 सबसे बड़ी खबरें

Yogi government took a big decision on deposits and profits

योगी सरकार ने लिया जमा खोरी और मुनाफा खोरी पर बड़ा फैंसला- 6 फरवरी की 4 सबसे बड़ी खबरें

1. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ की एक उच्च स्तरीय बैठक में विभिन्न विभागों की समीक्षा करते हुए सभी जिलाधिकारियो को अपने अपने जनपद में आवश्यक खाद्य सामग्री की दरों को नियंत्रित रखने के लिए प्रभावी कारवाई करने के लिए निर्देश दिये हैं. उन्होंने बताया कि आवश्यक वस्तुओं के दामों पर कड़ी से कड़ी नजर रखी जाए. और इसके साथ ही यह सुनिश्चित किया जाए कि जनता के दैनिक उपयोग जुड़ी आवश्यक खाद्य सामग्री की जमा खोरी और मुनाफा खोरी ना होने पाए.

2. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार देश में काम करीब और किसानों का विकास करने के लिए प्रतिबध है. राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा मे भाग लेते हुए तीनों कृषि कानूनों के बारे में उन्होंने कहा कि किसान संगठनों के साथ लगातार बातचीत करने के बावजूद कोई भी कोई भी संगठन उन प्रावधानो के पछ में आगे नहीं आया. जो उन्हें लगता है कि यह विवादस्पत है.

3. प्रदेश में बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों और खुद के निजी विद्यालयों में कोरोना काल बंदी के बाद शिक्षण कार्य फिर से चालू करने का फैसला लिया गया है. अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा कार्यालय से कल जारी आदेश अनुसार कच्छा 6 से अच्छा 8 तक के बच्चों के लिए विद्यालयों में शिक्षण कार्य आगामी 10 फरवरी से चालू हो जाएगा. इसके साथ ही कक्षा 1से 5 तक के बच्चों के लिए शिक्षण कार्य 1 मार्च से शुरु किया जाएगा. विद्यालयों में शिक्षण कार्य केंद्र सरकार के द्वारा कोविड 19 के अंतर्गत निर्धारित मार्को और शर्तों के अनुसार किया जाएगा.

4. कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आज पूरे देश भर में चक्का जाम करेंगे. लेकिन उत्तर प्रदेश उत्तराखंड और दिल्ली ncr में छूट रहेगी. किसान संगठनो ने कहा है कि उत्तराखंड दिल्ली और उत्तर प्रदेश को छोड़कर देश के सभी राज्य मार्गो पर किसान धन्ना देंगे. और दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक कोई भी किसी प्रकार का वाहन नहीं चलने देंगे. समाचार पत्र हिंदुस्तान ने इस पर लिखा up में नहीं होगा चक्का. जाम कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि विपछ बार-बार नए कृषि कानूनों को काला बता रहा है. मगर अभी तक किसी भी ने यह नहीं बताया कि इसमें काला क्या है.

0 komentar: