Header Ads Widget

Responsive Advertisement

AR Rahman : AR Rahman biography in hindi - ए आर रहमान के जीवन की एक सच्ची घटना

AR Rahman : AR Rahman biography in hindi - ए आर रहमान के जीवन की एक सच्ची घटना

AR Rahman biography in hindi

दोस्तों आज मैं इस blog में बात कर रहा हूं इंडिया के सबसे बड़े म्यूजिक कंपोजर में से सबसे महान केवल दो ही अकैडमी अवॉर्ड जीत कर पूरी दुनिया में भारतीय संगीत को पहचान दिलवाने वाले ए आर रहमान के बारे में। AR Rahman भारतीय कंपोजर सॉन्ग राइटर सिंगर म्यूजिक प्रोड्यूसर म्यूजिशियन है। इन्होंने एक ही नहीं कई भाषाओं में म्यूजिक दिया है। 

जैसे हिंदी, तमिल और उर्दू इसके अलावा और कई भाषाओं में भी इन्होंने म्यूजिक दिया है। क्या आपको पता है। दोस्तों  AR Rahman का नाम पहले  ए एस दिलीप कुमार था। और बहुत कम ही उम्र में ए आर रहमान के पिता की मृत्यु हो गई। जिसके बाद AR Rahman के ऊपर मानो मुसीबतों पर मुसीबतें टूट पड़ी। 

इतनी कठिन मुसीबतें आ गई। उनके सामने कि उन्हें  घर का खर्च चलाने के लिए म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट भी किराए पर देना पड़ा। दोस्तों आपको सभी बातों की जानकारी नहीं मालूम होगी। तो आइए दोस्तों जानते हैं अपने जबरदस्त और दमदार म्यूजिक से अपने देश का नाम रोशन करने वाले AR Rahman की पूरे जीवन के बारे में।  

AR Rahman biography in hindi

AR Rahman की जीवनी शुरू होती हैं  6 जनवरी 1967 से।  AR Rahman का जन्म तमिलनाडु के चेन्नई शहर में  हुआ था। उनके पिता का नाम आरके शेखर था। और उनकी माता का नाम करीमा बेगम था। AR Rahman के पिता आरके शेखर वह एक तमिल और मल्ल्या लव के कंपोजर थे। Rahman के पिता पहले से ही म्यूजिक इंडस्ट्री से जुड़े हुए थे। 

इसीलिए उनका इंडस्ट्वी शुरू से ही म्यूजिक में हो गया। और वह कभी-कभी वक्त मिलने पर अपने पिता के लिए कीबोर्ड भी प्ले किया करते थे। मगर उनके जीवन में सबसे बड़ा दुख की घड़ी तब आई। जब उन्होंने बचपन में ही 9 साल की उम्र में अपने पिता को खो दिया। 

और अपने पिता की मृत्यु हो जाने के बाद उन्हें गरीबी और काफी दुखों को भी झेलना पड़ा। अपने पिता के म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट को घर का खर्च चलाने के लिए किराए पर भी देना  शुरू कर दिया। और कुछ bands में काम करके थोड़े बहुत पैसे कमाए। 

और फिर वक्त के साथ आगे चलकर कुछ लोगों के साथ मिलकर रहमान ने नैमसि्स एवेन्यू नाम का अपना निजी एक राव पेंडिंग है। बचपन से ही रामायण मे काफी टैलेंटेड थे।  उनको हारमोनियम, कीबोर्ड और गिटार जैसे इंस्ट्रूमेंट बजाने में महारता  हॉसिल थी। इन्होंने अपनी म्यूजिकल  ट्रेनिंग मास्टर धनराज से ली थी। और जब वह 11 साल के थे। तब उन्होंने मल्ल्या लव के लव मे कंपोजर के तौर पर कार्य करना शुरू कर दिया। 

और अपने पिता के पास के दोस्त एनके अर्जुनानं के आर्केस्ट्रा में भी कार्य  किया। और फिर वक्त के साथ बहुत ही जल्द एमएस विश्वनाथन रमेश नायडू और राजकोठी जैसे कार्य करना आरंभ कर दिया। उनके इस दमदार टैलेंट को देखते हुए  ट्रीडटी कॉलेज लंदन से  म्यूजिक की पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप मिला। 

AR Rahman biography in hindi

आगे बढ़कर मद्रास में पढ़ाई करते हुए  ए आर रहमान वेशनल  क्लासिकल म्यूजिक के साथ टेक्लोमा के साथ  ग्रिजमेंट हुए। दोस्तों पहले ए आर रहमान 1989 तक ए एस दिलीप कुमार के नाम से ही जाने जाते थे। मगर 1989 में कोई कारण की वजह से यह अपने पूरे परिवार के साथ एस दिलीप कुमार के नाम से जुड़ गए। 

यानी कि अल्लाह रखा कर लिया। इन्होंने अपने करियर की शुरुआत एड्स और डॉक्यूमेंट्रीस के लिए म्यूजिक कंपोज करके किया। इसके बाद 1992 में  मणि रत्नम ने अपनी फिल्म रोजा में ए आर रहमान को म्यूजिक कंपोज करने का एक ऑफर दिया। और यह करने के लिए रहमान भी राजी हो गए। 

और इस फिल्म में उनके द्वारा दिए गए म्यूजिक के लिए नेशनल फिल्म एवार्ड  मे बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर के लिए  उनको सिल्वर लोटा से एवार्ड मिला। टेक्नोलॉजी से काफी प्रेम करने वाले रहमान ने 1992 में अपने घर के पीछे पञ्चाथन रिकॉर्ड इन के नाम से एक म्यूजिक स्टूडियो बना कर तैयार किया। 

और वह म्यूजिक स्टूडियो  भारत का ही बल्कि एशिया के सबसे हाईटेक स्टूडियोस मे से एक था। ए आर रहमान का म्यूजिक कंपोजिंग का तरीका और बाकियों से बहुत ही भिन्न था। और लोगों  उनकी यही बात अच्छी लगती रही। और वह एक दिन सबके चहेते म्यूजिक कंपोजर बन गए। 

आगे बढ़कर ए आर रहमान ने बांबे द अर्बन  कथा लर्न थिरूदा  और जेंटलमैन जैसी तमिल मूवियों में अपने मन मोह लेने वाले संगीत को छोड़ दिया। और फिर इसके बाद 1995 में आई इंदिरा मिस्टर्ब रोमियो और लव बट जैसी  फिल्मों ने उनके म्यूजिक कंपोजिंग में चार चांद लगा दिए। 

AR Rahman biography in hindi

इसके साथ ही  उन्होंने इसी साल सायरा बानो के साथ अपनी शादी कर ली। इनका बॉलीवुड डेब्यु 1995 में ही रंगीला मूवी से हुआ। और फिर आगे चलकर उन्होंने दिल से लगान फिजा और दावत जैसी कई और फिल्मों में अपना दमदार म्यूजिक दिया। मगर 2008 में आई फिल्म स्लडाउन मिलेनियन  ने मानो उनकी पूरी जिंदगी ही बदल दी। 

इस फिल्म ने उनको अपने शानदार और दमदार म्यूजिक के लिए एक गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड और दो अकैडमी अवॉर्ड जीते। और यह कार्य नाम करने वाले वह पहले  एशियाई बने और फिर इसके बाद अगले  वर्ष में ही उन्होंने एक हॉलीवुड मूवी में अपना म्यूजिक दिया। और उस पहली हॉलीवुड मूवी में उन्होंने बीएमआई लंदन  एवार्ड और फरदर्शी  स्कोर जीता। 

और फिर आगे चलकर उन्होंने स्वदेश रंग दे बसंती चोला अकबर जाने तू या जाने ना एक दीवाना था। जब तक है जान और रॉकस्टार जैसी फिल्मों के लिए म्यूजिक कंपोज करके उन्होंने अपनी एक अलग ही पहचान बना ली। और इसके अलावा रहमान ने साउथ इंडिया की बहुत सारी फिल्मों में अपना म्यूजिक देते रहें। 

और  ए आर रहमान की पर्सनल लाइफ की बात करें तो तो उन्होंने 1995 में सायरा बानो के साथ शादी कर ली थी। और इस वक्त रहमान से उनके तीन बच्चे हैं। रहीमा, आमीन और खतीजा ज्यादा से ज्यादा अपने म्यूजिक को समय देने वाले रहमान ने मानवता के हित के लिए अनेकों अनेक कार्य किए हैं। 

उन्होंने स्टॉप टीवी पार्टनरशिप और सेव टू चिल्ड्रन जैसे आर्टनाइजेशन के साथ कार्य किया है। और उन्होंने अपनी जादुई संगीत के जरिए काफी सारे अवार्ड जीत लिए हैं। जैसे कि 6 तमिलनाडु स्टेट्स फिल्म एवॉर्ड्स 4 नेशनल एवॉर्ड्स 15 फिल्म  फेअवॉर्ड्स और 16 फिल्म फेअवॉर्ड्स साउथ। 

इसके  अलावा म्यूजिक के क्षेत्र में किए गएय इनके बहुत ही शानदार काम के लिए ए आर रहमान को पदम श्री के सम्मान से भी सम्मानित किया है। अगर रहमान के बारे में कहा जाए तो रहमान भारत के सबसे बड़े म्यूजिक कंपोजर तो है। 

इसके अलावा उन्होंने  देश को इंटरनेशनल लेवल पर उपस्थित करके अपने देश का  मान सम्मान बढ़ाया है। आशा है कि वह अपने ऐसे ही शानदार और दमदार म्यूजिक से  हम सबको बांधे रहे।

---------------------------------

AR Rahman : AR Rahman biography in hindi

---------------------------------

AR Rahman, AR Rahman, AR Rahman,

AR Rahman, AR Rahman, AR Rahman

AR Rahman, AR Rahman, AR Rahman

AR Rahman, AR Rahman, AR Rahman

----------------------------------